फेंगशुई

फेंगशुई कौन सी वस्तुएं क्या प्रभाव देती हैं ?

फेंगशुई की वस्तुएं भारतीय समाज में बहुत तेजी से लोकप्रिय हुई हैं. इसका कारण साज सज्जा के लिए उनका आकर्षण तो है ही साथ ही जन्मोत्सव आदि शुभ अवसरों पर उपहार के रूप में फेंगशुई की वस्तुओं का प्रचलन हो जाने के कारण ये घर घर में पहुँच गई हैं. प्राय: इनके उपयोग की सही विधि मालूम नहीं होने के कारण लोग इनका पूर्ण लाभ नहीं ले पाते. प्रस्तुत लेख में फेंगशुई की विभिन्न वस्तुओं के उपयोग की सही जानकारी दी जा रही है.
(पवनघंटी) विंड चाइम्स
ये धातु की पतली एवं खोखली गोल नलियों की बनी होती हैं. नलियों को किसी गोलाकार प्लेट के नीचे किसी तार की सहायता से इस प्रकार लटकाया जाता है कि ये भूमि की ओर लम्बवत लटकी रहती है. इन्हें घर में प्रवेश द्वार पर चौखट पर लटकाया जाता है. जिस घर में आस-पास के क्षेत्र में कोलाहल रहता हो वहां विंड चाइम्स द्वार पर लगानी चाहिए.
तीन टांगों वाला मेढ़क
इसके मुंह में एक या तीन सिक्के होते हैं. इसे मुख्य द्वार के समीप इस प्रकार रखें, जैसे यह भीतर की ओर देख रहा हो. इससे घर में समृद्वि आती है. अकस्मात लाभ के अवसर मिलते हैं.
हंसते हुए बुद्व की मूर्ति
इसे सामान्य बोलचाल की भाषा में लाफिंग बुद्वा कहा जाता है. उपहार स्वरूप मिले लाफिंग बुद्वा को अधिक शुभफलदायक माना जाता है. यही कारण है कि इसे गिफ्ट में देने का सर्वाधिक प्रचलन है. प्राय: लोग अपने परिजनों, मित्रों एवं शुभचिंतकों को इसे उपहार में देते हैं. प्राय: इसे बैठक (ड्राइंग रूम) में सजाने के लिए कहीं भी रख दिया जाता है. इसे मुख्य द्वार के अन्दर इस प्रकार रखना चाहिए कि भवन के अन्दर प्रवेश करने वाले के सम्मुख यह लाफिंग बुद्वा उसका स्वागत करता हुआ प्रतीत हो. यदि घर में मुख्य भवन के बाहर चाहरदीवारी हो तो इसे चाहरदीवारी वाले मुख्य द्वार के आगे न रखकर मुख्यभवन में प्रवेश करने वाले द्वार के अन्दर रखना चाहिए. इसे किसी स्टूल या मेज पर रखना चाहिए. इसके साथ किसी अन्य वस्तु को मेज या स्टूल पर नहीं रखना चाहिए. मेज या स्टूल के सिरे गोलाकार या अंडाकार होने चाहिए. उनकी ऊंचाई ढाई से तीन फुट ही होनी चाहिए. अधिक ऊंचाई या बिल्कुल जमीन के ऊपर लाफिंग बुद्वा को नहीं रखना चाहिए.
इसे मुख्य द्वार के सामने लगभग 30 इंच की ऊंचाई पर लगाया जाता है. इसमें भवन में प्रवेश करने वाली ऊर्जा का हंसते हुए स्वागत होता है.
शुभत्व का प्रतीक ग्लोब
जैसा कि आप जानते ही हैं कि फेंगशुई के प्रतीक चिन्हों को बहुत महत्व दिया जाता है. इसी क्रम में सम्पूर्ण पृथ्वी का ग्लोब भी ज्ञान में वृद्वि करने के लिए लाभदायक माना जाता है. इसे घरों, कार्यालयों में एक मेज पर रखा देखा जाता है और इसके लिए इस बात का कोई महत्व नहीं दिया जाता कि इसे मेज के किस कोने या क्षेत्र में रखा जाये. जिन लोगों का विषय इनसे सम्बन्धित है. वे तो इसका अध्ययन करते रहते हैं. उनके अतिरिक्त इनकी उपस्थिति भी सही क्षेत्र में रखने मात्र से ज्ञान में वृद्वि करने में सहायक होती है. ग्लोब को घर, कार्यालय अथवा मेज पर उत्तर पूर्व कोने में रखना चाहिए क्योंकि इस कोने से इसका सामंजस्य सरलता पूर्वक स्थापित हो जाता है. कारण स्पष्ट है कि इस कोण का तत्व पृथ्वी है. यह अपने आस पास के क्षेत्र की ऊर्जा शक्ति में वृद्वि करता है. शिक्षा और ज्ञान के प्रतीकात्मक इस ग्लोब का विशेष प्रभाव पढ़ने वाले बच्चों पर होता है. स्वयं का व्यापार करने वाले लोगों को भी अपनी मेज पर ग्लोब रखना लाभदायक सिद्व होता है.
पाकुआ
पाकुआ ऐसा अष्टकोण है जो व्यवसाय, शिक्षा, स्वास्थ्य, संपत्ति, यश, विवाह, बच्चे, मित्र और सहायक आदि सभी अंगों का प्रतीक माना जाता है. इसे घर के बाहर द्वार पर लटकाया जाता है.
बांस के पौधे
बांस के पौधे विशेष रूप से प्रभावी माने जाते हैं. इन्हें बैठक में सजाया जाता है.
स्फटिक का गोला
भवन की दक्षिण-पश्चिम दिशा का कोना प्रेम, रोमांस व प्रेम का होता है. इस क्षेत्र की शक्ति बढ़ाने के लिए स्फटिक के गोले टांगने चाहिए. यह विषम संख्या में ही टांगने चाहिए.
बतख के जोड़े
इन्हें शयन कक्ष में रखने से प्रेम, सदभाव व ऊर्जा बनी रहती है. दाम्पत्य जीवन में परस्पर सहयोग एवं सामंजस्य स्थापित करने के लिए इनको शयन कक्ष में बेड के सामने इस प्रकार रखें कि दंपत्ति की नजर इस पर पड़ती रहे.
चीनी सिक्के
तीन चीनी सिक्कों को चमकीले लाल रिबन में बांधकर पर्स में रखें या दरवाजे के हैंडल में लटकाना चाहिए. घर में समृद्वि आती है. सिक्कों को दरवाजे के उस हैंडल में बांधकर लटकाना चाहिए. जिस हैंडल को पकड़कर दरवाजे को खोला जाए.
धातु का कछुआ
पानी से भरे एक कटोरे में धातु का बना एक कछुआ रखिए. पति-पत्नी के मध्य कभी झगड़ा नहीं होगा. इसके पानी को समय-समय पर बदलते रहना चाहिए.

Leave a comment

  • 1
  • 3
  • 5
  • blog
  • lal-kitab
  • om
  • swastika
  • vastua

Quote

At Grahshakti.com we make the people aware for coming misery events and it make us happy when people tell us we really helped them by make them conscious for the same.

Contact Us

Powered By Indic IME